उत्तराखण्ड में रहने के लिए खूबसूरत स्थान

उत्तराखंड में रहने के लिए कुछ बेहतरीन शहरों की जानकारी लेनी हो तो इस इस लेख को पढ़ें। ये सब स्थान, रहने के लिए सभी आधुनिक सुविधाएँ और बेहतरीन आबोहवा लिये हैं और साथ साथ शांतिपूर्ण और सुंदर वातावरण की तलाश करने वाले लोगों के लिए उपयुक्त हैं। निम्नलिखित में से कुछ स्थान अनोखे अनुभव प्रदान करते हैं और रोमांच, शांति की तलाश करने वालों के लिए उपयुक्त हैं, ये स्थान एक अनूठा अनुभव प्रदान करते हैं और शांतिपूर्ण और प्राकृतिक वातावरण की तलाश करने वालों के लिए आदर्श हैं।

  1. देहरादून: यह उत्तराखण्ड राज्य की राजधानी है और आधुनिक सुविधाओं, नौकरी के अवसरों और प्राकृतिक सुंदरता का एक अच्छा मिश्रण प्रदान करता है। यहाँ घूमेनें के लिए विभिन्न स्थान जिनमें से सहस्त्रधारा, एफआरआई, रॉबर्स केव, मालसी डियर पार्क, टपकेश्वर महादेव मंदिर, EC रोड, विभिन्न शॉपिंग मॉल और मल्टीप्लेक्स आदि कुछ हैं।
  2. नैनीताल: अपनी शांत झीलों, हरी-भरी हरियाली और सुहावने मौसम के लिए जाना जाने वाला नैनीताल भारत के सबसे लोकप्रिय हिल स्टेशनों में से एक है। नैनी झील, नैनीताल चिड़ियाघर, स्नो व्यू, पंगोट, भीमताल, सातताल, नौकुचियाताल, खुर्पाताल, भवाली आदि स्थान नैनीताल के कुछ आकर्षण हैं।
  3. मसूरी: हिमालय की तलहटी में स्थित मसूरी लुभावने दृश्य, स्वच्छ हवा और शांतिपूर्ण वातावरण प्रदान करता है, जो इसे रहने के लिए एक लोकप्रिय स्थान बनाता है।
  4. हरिद्वार: अपने आध्यात्मिक और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाने वाला हरिद्वार एक हलचल भरा शहर है जो साल भर पर्यटकों और श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करता है।
  5. अल्मोड़ा: कुमाऊँ क्षेत्र में स्थित, अल्मोड़ा एक आकर्षक हिल स्टेशन है जो हिमालय के शानदार दृश्य, एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और एक शांत जीवन शैली प्रदान करता है।
  6. ऋषिकेश: “विश्व की योग राजधानी” के रूप में जाना जाता है, ऋषिकेश अपने आश्रमों, आध्यात्मिक वातावरण और राफ्टिंग और बंजी जंपिंग जैसी साहसिक गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध है।
  7. उत्तरकाशी: यह सुदूर और सुंदर शहर घने जंगलों, बर्फ से ढकी चोटियों और शांत नदियों से घिरा हुआ है, जो इसे साहसिक उत्साही और प्रकृति प्रेमियों के लिए एक शानदार जगह बनाता है।
  8. बागेश्वर: यह ऐतिहासिक शहर कुमाऊँ क्षेत्र में स्थित है और अपनी प्राकृतिक सुंदरता, धार्मिक महत्व और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए प्रसिद्ध है।
  9. चमोली: अपने ग्लेशियरों, गर्म झरनों और प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाने वाला चमोली ट्रेकिंग और साहसिक खेलों के लिए एक आदर्श स्थान है।
  10. रुद्रप्रयाग: यह छोटा सा शहर दो पवित्र नदियों, अलकनंदा और मंदाकिनी के संगम पर स्थित है, और अपनी प्राकृतिक सुंदरता और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है।
  11. पिथौरागढ़: कुमाऊं क्षेत्र में स्थित पिथौरागढ़ अपनी प्राकृतिक सुंदरता और समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के लिए जाना जाता है।
  12. हल्द्वानी: नैनीताल जिले में स्थित, हल्द्वानी एक हलचल भरा शहर है जो कुमाऊँ के हिल स्टेशनों के प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है।
  13. रानीखेत: यह सुंदर हिल स्टेशन अपनी हरी-भरी हरियाली, सुंदर गोल्फ कोर्स और शांत वातावरण के लिए प्रसिद्ध है।
  14. कोटद्वार: यह छोटा शहर पौड़ी गढ़वाल जिले में स्थित है और गढ़वाल के हिल स्टेशनों के प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है।
  15. श्रीनगर: पौड़ी गढ़वाल जिले में स्थित श्रीनगर अपनी प्राकृतिक सुंदरता, साहसिक खेलों और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है।
  16. औली: एक लोकप्रिय स्की गंतव्य, औली हिमालय के मनोरम दृश्य और साहसिक खेलों की एक श्रृंखला प्रदान करता है।
  17. मुक्तेश्वर: यह विचित्र हिल स्टेशन अपनी प्राकृतिक सुंदरता, शांत वातावरण और ट्रेकिंग और पैराग्लाइडिंग जैसी साहसिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है।
  18. कर्णप्रयाग – कर्णप्रयाग भारत के उत्तराखंड के चमोली जिले में, अलकनंदा और पिंडर नदियों के संगम पर स्थित है। ये स्थान के लिए एक पवित्र स्थल माना जाता है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है और आसपास के क्षेत्रों में ट्रेकिंग और अन्य साहसिक गतिविधियों के लिए शुरुआती बिंदु के रूप में कार्य करता है। यह शहर कर्णेश्वर मंदिर सहित कई मंदिरों का घर भी है, जो भगवान शिव को समर्पित है।

Things should be kept in mind while travelling new places

Before traveling to a new place, consider the following preparations:

  1. Research the destination: Familiarize yourself with the culture, customs, laws, and language of the place you’re visiting.
  2. Plan your itinerary: Make a list of the places you want to visit, estimate the costs, and book accommodations if necessary.
  3. Obtain necessary documents: Check the visa requirements and make sure you have a valid passport, driver’s license, and travel insurance.
  4. Pack appropriately: Pack clothing and items suitable for the climate and activities you have planned.
  5. Stay informed: Stay up-to-date on local news and any travel warnings or alerts issued by your government.
  6. Keep copies of important documents: Keep electronic and physical copies of your passport, travel insurance, and other important documents in a safe place.
  7. Learn basic phrases: Learning basic phrases in the local language can be helpful in navigating the destination and communicating with locals.
  8. Respect local customs and laws: Be mindful of cultural differences and obey local laws and regulations.
  9. Stay safe: Familiarize yourself with emergency procedures, including the local emergency number, and take basic safety precautions, such as not carrying large amounts of cash or displaying valuables in public.

Explore various places with PopcornTrip

Dehradun to Mussoorie Road Journey Guide

The road journey from Dehradun to Mussoorie is approximately 35 kilometers and takes about 1-2 hours depending on traffic, tourist season and road conditions. The route is well-connected by a good network of roads, and the journey is scenic, passing through beautiful mountains, valleys and forests. The most common route to take is via NH734 and the winding road, with a number of hairpin bends and steep inclines, offers picturesque views of the Doon valley and the surrounding hills.

Clock Tower

Clock Tower Dehradun

There are several modes of transportation available to make the journey, including:

  1. Bus: There are frequent bus services that run between Dehradun and Mussoorie, operated by the state-run Uttarakhand Transport Corporation (UTC). Anyone can get bus from Mussoorie Bus Stand near Dehradun Railway station.
  2. Taxi: You can also hire a taxi or a cab to take you from Dehradun to Mussoorie.
  3. Private car or two wheeler: You can also drive your own car, but be prepared for winding roads and steep inclines.
A Rainy Day in Dehradun

A Rainy Day in Dehradun

It is recommended to check the road condition in advance as the route is prone to landslides during monsoon season, and it’s better to plan your journey accordingly.

Parking in Mussoorie

Mussoorie has several parking options available, including on-street parking, municipal parking lots, and private parking lots. Some popular parking locations in Mussoorie include the Gandhi Chowk parking area, the Library Chowk parking area, and the Municipal Garden parking area. It’s also possible to find parking on the side streets near popular tourist attractions. It’s important to be aware of any parking restrictions or fees that may apply in certain areas. It is advised to check for parking information with local authorities before embarking on the trip.

Explore Dehradun city
https://www.popcorntrip.com/dehradun/

Watch Dehradun

क्यों इतना प्रसिद्ध है देहरादून के निकट सहस्त्रधारा

सहस्त्रधारा भारत के उत्तराखंड राज्य राजधानी देहरादून के निकट स्थित एक आकर्षक पर्यटन स्थल है। सहस्त्रधारा नाम का अर्थ है “हजारों जल धारायें” और यह अपने चूना पत्थर के निर्माण और झरनों की एक श्रृंखला के लिए जाना जाता है। यह अपने प्राकृतिक सल्फर स्प्रिंग्स के लिए भी लोकप्रिय है, जिसके बारे में माना जाता है कि यहाँ के झरने के पानी में कई औषधीय गुण हैं। इस झरने के जल से कई त्वचा संबंधी रोगों का उपचार होता है। यहाँ आने वाले पर्यटक इस यहाँ बहते झरने के जल को इकट्ठा कर बनाये विभिन्न तालाबों में डुबकी लगाते हैं। इस स्थान में एक फ़न पार्क भी जहां विभिन्न झूले और राइड्स उपलब्ध हैं। यहाँ एक रज्जु मार्ग (Roap Way) भी है और एक बौद्ध मंदिर भी है।

Sahastradhara-Tour-Dehradun-in-Hindi

यहाँ पर्यटक पूरा दिन या तीन चार घंटे आराम से बिता सकते हैं। देहरादून स्थित सहस्त्रधारा कई कारणों से खास है, जिनमें से कुछ हैं:

  • माना जाता है कि प्राकृतिक गंधक के झरनों में औषधीय गुण होते हैं, और कहा जाता है कि यह त्वचा और जोड़ों की समस्याओं वाले लोगों के लिए फायदेमंद है।
  • यह स्थान अपने चूना पत्थर के निर्माण और झरनों की एक श्रृंखला के लिए जाना जाता है, जो इसे एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल बनाता है।
  • यह आसपास की पहाड़ियों और घाटियों का सुंदर दृश्य प्रस्तुत करता है।
  • आगंतुक झरने में डुबकी लगा सकते हैं और यहां रोपवे की सुविधाएं भी उपलब्ध हैं।
  • पिकनिक और प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेने के लिए यह एक बेहतरीन जगह है।
  • यह शहर के करीब स्थित है और सड़क मार्ग से आसानी से पहुँचा जा सकता है।
  • यह फोटोग्राफी और सुंदर परिदृश्यों को कैप्चर करने के लिए एक बेहतरीन जगह है।
  • इस जगह का शांत और निर्मल वातावरण है और यह उन लोगों के लिए एक आदर्श स्थान है जो शहर की हलचल से आराम की तलाश में हैं।

आप इस स्थान पर बने रोचक वीडियो से अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं –

How to be updated and get latest travel related information about Uttarakhand

There are many ways to get information about travel places in Uttarakhand:

  1. Visit the official website of Uttarakhand Tourism Development Board (UTDB) – It provides detailed information about various tourist destinations, including information on how to reach there, things to do and places to stay.
  2. Check out travel blogs and review sites – There are many travel bloggers and reviewers who have visited Uttarakhand and have written about their experiences. Websites like TripAdvisor, Lonely Planet and Frommer’s are a great source of information.
  3. Read local newspapers and publications – Local newspapers and publications often feature articles about travel destinations in Uttarakhand.
  4. Ask for recommendations from friends, family, Hoteliers or locals – if you know someone who has recently visited Uttarakhand, ask them for their recommendations and their experiences.
  5. Use a travel guidebook – Many travel guidebook publishers have guidebooks dedicated to Uttarakhand which have information on history culture and popular tourist destinations.
  6. Utilize Social media – Many travel agencies, hotels, and tour operators have social media accounts where they post pictures, videos and information about their offerings.
  7. Contact a travel agent – A travel agent can help you plan your trip and provide you with information about travel places in Uttarakhand.

It’s always a good idea to do a mix of these methods to get a well-rounded view of the places and make a plan accordingly.

To Explore Uttarakhand various treks and places you also can visit our YouTube channel – PopcornTrip

https://www.youtube.com/popcorntrip

एक समय था सैर सपाटा अमीरों के लिए ही था।

एक समय था सैर सपाटा अमीरों के ही शौक थे, और यह विलासिता मे आता था। बाकींलोग तो साल – दो साल मे अपने रिश्तेदारी में चले जाए तो वहीं घूमना माना जाता था। फिर महीनों तक उस घूमने के मित्रों – मोहल्ले मे चर्चे होते।

अभी बहुत समय नहीं बीता इस बात को। फिर लोगों की औसत आय बढ़ने के साथ – दूर दराज के स्थानों और दुनिया के प्रति जानकारी और वहाँ पहुँचने का आकर्षण भी बढ़ने लगा।

यात्राओं मे स्टिल केमेरे की भी भूमिका बड़ी, कहीं जाओं तो तस्वीरें भी खीच लो, कोडेक, फूजी जैसे कमेरे मे रील डालो और अपनी यात्राओं को छवियों के साथ अमर कर लो। तब लोग फुरसत से निकलते और एक या दो डेस्टिनेशन को देख कुछ दिन किसी होटल मे रूम लेकर रहते है लौट आते।

फिर डिजिटल केमेरे आए – लोग खुश थे – अब अच्छी क्वालिटी (तथाकथित) मिलने के साथ रील पर होने वाले पैसे बचेंगे, हालांकि – डिजिटल केमेरे कई गुना महेंगे थे। खैर आरंभिक/ एकमुश्त होने वाले खर्चे से अधिक मानव मनोविज्ञान को आपरैशनल/ रनिंग कोस्ट अखरती है। फिर वो कोई वाहन हो या डिवाइस। फिर मोबाईल मे भी केमेरे आने लगे।

फिर इंटरनेट के आने के बाद अन्य कई सेक्टर की तरह घूमने फिरने मे भी क्रांति हुई, तब मोबाईल सिर्फ बात करने, संदेश भेजने, टाइम देखने आदि का माध्यम ही नहीं रहा, बल्कि इंटरनेट उपयोग का भी एक अच्छा टूल बन गया।

साधारण मोबाईल के स्मार्टफोन बनने के बाद – जहां एक ओर सोशल मीडिया ने प्रवेश किया दूसरी ओर होटल/ पैकेज बुकिंग की तमाम साइट्स आने लगी – जिहोने सस्ते होटेल्स लिस्ट करने शुरू कर दिए, टैक्सी बुकिंग एप आने लगी और सोशल मीडिया पर लोगों ने अपने यात्रा की तस्वीरें अपलोड करनी शुरू कर दिए। जो दूसरे लोगों को भी घूमने के लिए प्रेरित करने करने लगी।

फिर अब आया video का दौर – तमाम साइट्स मे रील बनाना, ज्यादा से ज्यादा स्थानों को कवर करके -Vlog बनाना, अपलोड करना।

घूमने के तरीके और उद्देश्य मे भी परिवर्तन हो गया है – जो कुछ समय पहले फुरसत के समय का आनंद लेना होता था। अब घूमने के समय ज्यादातर लोगों को अपने लिए भी फुरसत नहीं होती, घूमा इसलिए जा रहा है कि – हमने कितनी ज्यादा से ज्यादा जगह कितने कम से कम समय मे देख ली, डेस्टिनेशन में बिताने से ज्यादा समय सड़कों से गुजरने में बीत रहा है।

हाँ अभी भी कई लोग है – जिन्हे घूमते हुए न अपनी सेल्फ़ी लेने की परवाह होती, न सोशल मीडिया पर अपनी यात्राओं की तस्वीर डालने की ख्वाहिश होती, किसी डेस्टिनेशन मे जाकर वहां की फिज़ाओं को महसूस करते हैं, जहां होते है बस वहीं रहते है – और बाकि सब भूल जाते हैं। #popcorntrip