अल्मोडा से चितई व जागेश्वर मंदिर दर्शन करते हुए पिथौरागढ़ का यात्रा वृतांत

अल्मोडा उत्तराखण्ड का सांस्कृतिक, ऐतिहासिक मायने से महत्वपूर्ण नगर और उत्तराखंड का सीमांत जनपद पिथौरागढ़ जो अपने विविध महत्वपूर्ण पर्यावरणीय संपन्नता समेटे हुए है। पिथौरागढ़ से कई उच्च हिमालयी क्षेत्रों और ग्लेशियर्स के ट्रैक्स किए जा सकते हैं, river sports के लिए अनुकूलता लिए नगर। इस लेख में है, इन दोनों नगरों की सड़क यात्रा की जानकारी।

पिछले लेख में, हल्द्वानी जो कि कुमाऊँ का प्रवेश द्वार के नाम से जाना जाता है, जहां से कई पहाड़ी क्षेत्रों जैसे अल्मोडा, पिथौरागढ़, बागेश्वर, रानीखेत, मुक्तेश्वर, बिनसर सहित अन्य कई स्थानों के लिए मार्ग है, और अल्मोडा जो उत्तराखण्ड का सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्मृति चिन्ह समेटे हुए है, पहुँचने का यात्रा वृतांत था, अब आगे।

अल्मोडा नगर के धारानीला स्टेशन से पिथौरागढ़ को नियमित जाने वाली बस और टैक्सी आदि मिलती है।

अल्मोड़ा के नाम से जुड़ी है बाल मिठाई, चाकलेट और सिंगौड़ी को अलमोड़ा की मुख्य बाज़ार के अलावा यहाँ से ख़रीद सकते है, इनको बनानें में मिल्क प्रॉडक्ट्स का उपयोग होता है, तो इनके बेस्ट टेस्ट के लिए इन्हें 2-3 दिन के अंदर कंज्यूम करना ठीक रहता है।

धारानौला में रात्रि विश्राम करना हो, यहाँ कुछ होटल भी मिल जाएँगे, यहाँ ख़ान पान के लिए भी कई रेस्टोरेंट है।

चलने फिरना पसंद करते हो, तो  धारानीला से पटाल बाज़ार तक 15 – 20 मिनट में चढाई में ट्रेक कर पहुँच सकते है। और पटाल बाज़ार –  अल्मोडा की मुख्य बाज़ार है, लगभग 2 किमी लंबी बाज़ार में टहलते – टहलते शॉपिंग का भी आनद ले सकते है और अल्मोड़ा की ऐतिहासिक भवनों को देखते हुए, कुमाऊँ के इतिहास को अपने सामने देख कर महसूस कर सकते हैं।

अल्मोड़ा से पिथौरागढ़ 114 किलोमीटर है। धारानौला का बाज़ार का क्षेत्र ख़त्म होने के तुरंत बाद एक तिराहा दिखता है – सिकुड़ा बैंड, यहाँ से यू टर्न लेती दाहिनी ओर को जाती सड़क से जलना, लमगड़ा और उससे आगे जा सकते हैं, और सीधे आगे जाती सड़क से पिथौरागढ़ की ओर, यहाँ से सड़क हल्की चढ़ाई लिए है। इसी सड़क में मिलता – एक सुंदर व्यू पॉइंट है – फ़लसिमा, जहां से देख सकते है – अल्मोडा का विहंगम दृश्य और दूर तक फैली घाटियाँ। फ़लसीमा बेंड को पार करने के बाद दिखता है एक कलात्मक भवन – जो जाना जाता है –  उदयशंकर नाट्य अकैडमी के नाम से।

इस रोड पर आगे चलते हुए NTD तिराहे – बाद सड़क से ऊपर, बायीं ओर है, अल्मोड़ा  का जू, यहाँ तेंदुए, मृग सहित वन्य जीव देखे जा सकती हैं।

अल्मोड़ा  नगर से लगभग 8 -9  किलोमीटर की दूरी पर स्थित है –  स्थानीय निवासियों के धार्मिक आस्था का पवित्र स्थल चितई, जो अपने न्याय के लिए प्रसिद्ध गोलू देव को समर्पित है।

अलमोड़ा – पिथौरागढ़ रोड से लगा, मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार, मंदिर के बाहर सड़क के किनारे प्रसाद, पुष्प, घंटियाँ अन्य सामग्री ख़रीदी जा सकती है। चितई में जलपान के साथ ठहरने के लिए कुछ गेस्ट हाउस दिखते है।

चितई मदिर स्थित गोलू देवता न्याय के देवता के रूप में जाने जाते हैं, लोग यहाँ अपनी प्रार्थनापत्रोंचिठ्ठियों में लिख, यहाँ टाँगते हैं, जो बड़ी बड़ी संख्या में देखी जा सकती है, मान्यता है किपवित्र और सच्चे हृदय से लिखी गई प्रार्थनाएँ यहाँ अवश्य स्वीकार होती हैं, श्रदालु यहाँ घंटियाँ, चुनरी भी अर्पित करते हैं।

इस मंदिर के चारों और अनगिनत घंटियाँ लगी दिखती हैं। कई विशेष अवसरों पर भक्तों द्वारा यहाँ भंडारा भी आयोजित कराया जाता है। मंदिर से कुछ मीटर आगे जाकरवाहनों के लिए बड़ा पार्किंग स्थल है। 

चितई से आगे सड़क ढलान लिए है, चितई से आगे 6 किमी बाद हैं –  छोटा सुंदर क़स्बा पेटशाल, पेटशाल से लगभग 1 किलोमीटर पर लखुउडयार शैलाश्रय prehistoric cave। यहाँ गुफानुमा चट्टान में की गई चित्रकारी आदि काल के मानवों द्वारा की गई है। लखुउडयार पर बना डेडिकेटेड वीडियो YouTube.com/PopcornTrip में देख सकते हैं।

अलमोड़ा – पिथौरागढ़ मार्ग में अगला स्थान मिलता है  – बाड़ेछीना। समुद्र तल से 1,415 मीटर की उचाई पर स्थित यह आस पास के गाँव के लिए बाज़ार हैं। बाड़ेछीना में बुनियादी ज़रूरत का सभी समान उपलब्ध हो जाता है,  यह एक उपजाऊ क्षेत्र है यहाँ ग्रामीणों द्वारा खेती होते देखी जा सकती है।

बाड़ेछीना के बाद मिलने वाले एक तिराहे से बायीं से धौलछीना, शेराघाट, बेरीनाग, चौकोड़ी, मुन्स्यारी आदि स्थानों को जा सकते है, और सीधी जाती सड़क है पिथौरागढ़ के लिए।

बाड़ेछीना से 11 किलोमीटर की दूरी पर पनुवानौला, यह घनी आबादी वाला क्षेत्र हैं, यहाँ काफी दुकानें, रैस्टौरेंटस आदि हैं।

पनुवानौला से लगभग दो किलोमीटर आगे हैआरतोला। यहाँ तिराहे से बायीं और जाती सड़क से 3 किलोमीटर की दूरी पर है भगवान शिव को समर्पित प्रांचीन जागेश्वर धाम और सीधा जाती सड़क पिथौरागढ़ के लिए है।

जागेश्वर मंदिर से समीप एक म्यूजियम भी है, जहां मंदिर से जुड़ी मूर्तियाँ और मंदिर से जुड़े विभिन्न प्रतीक रखे गये हैं।

जागेश्वर कई छोटे बड़े मंदिरों, जो कि  नौवीं से ग्याहरहवीं सदी के बीच, कत्यूरी शासन काल में निर्माण हुआ था का समूह है। इनमें से कुछ हैं महामृत्युंजय मंदिर, श्री जागेश्वर ज्योतिर्लिंग। यहाँ मंदिरों में काफी बारीक, उत्कृष्ट और आकर्षक नक्काशी की गई है। ये मंदिर प्रागण में एक ताल, जिसमें ब्रहम्मकमल के फूल दिखते हैं।

 

जागेश्वर मंदिर समूह के साथ ही यहाँ जागेश्वर मंदिर से समीप ही कुबेर देवता और चण्डिका देवी को समर्पित मंदिर भी स्थित हैं।  जागेश्वर आने वाले श्रद्धालु यहां भी अवश्य आते हैं। कुबेर भगवान धन और संपदा के प्रदानकर्ता माने गए हैं।

जागेश्वर मंदिर में कुछ समय व्यतीत कर, लंच जागेश्वर के कुमाऊँ मण्डल विकास निगम के गेस्ट हाउस में लिया।  आदि कैलाश यात्रा की यह यात्रा हम KMVN के १६ वे ग्रुप के साथ कर रहे है,  वापस लौटे अपना सफ़र जारी रखने के लिए। और मार्ग में फिर वही दण्डेश्वर मंदिर जिसे हमने आते समय भी देखा था। श्रद्धालु यहाँ भी रुक इस मंदिर के दर्शन करते हैं।

जागेश्वर मंदिर के दर्शन कर, उसी मार्ग से ३ किलोमीटर वापस आरतोला लौट अलमोड़ा पिथौरागढ़ मार्ग में फिर से अपना सफ़र जारी रखा। यहीं से एक सड़क के बायीं ओर झाकरसैम मंदिर, इस पर बना वीडियो भी PopcornTrip में देख सकते है।

आरतोला  से ४-५ किलोमीटर पर स्थित ये छोटा सा गाँव हैं गरुड़ाबांज। यहाँ सड़क के बाँज और अन्य चौड़ी पत्तियों वाले वृक्षों इस स्थान को अब तक के सफ़र में दिखने वाले वन क्षेत्रों से अलग बनाते हैं।

मार्ग में आने वाले कुछ स्टेशन है ध्याड़ी, बसौलीख़ान, पनार आदि। पनार में रामगंगा नामक नदी बहती है। पनार – पिथौरागढ़ मार्ग में पिथौरागढ़ से लगभग १३ किलोमीटर पूर्व गुरना माता का मंदिर है। यहाँ इस मार्ग से आने जाने वाले वाहन यहाँ माँ का आशीर्वाद प्राप्त कर अपने गंतव्य की और बड़ते हैं।

पिथौरागढ़ उत्तराखण्ड का सबसे लंबा अंतर्रास्त्रीय सीमा वाला ज़िला है, जिसकी सीमाएँ नेपाल और तिब्बत जो अब चीन का हिस्सा है, से लगी है।

देखें इस पर बना वीडियो 

आपको यह यात्रा सीरीज कैसी लग रही है, कमेंट करके बताइएगा।

Things should be kept in mind while travelling new places

Before traveling to a new place, consider the following preparations:

  1. Research the destination: Familiarize yourself with the culture, customs, laws, and language of the place you’re visiting.
  2. Plan your itinerary: Make a list of the places you want to visit, estimate the costs, and book accommodations if necessary.
  3. Obtain necessary documents: Check the visa requirements and make sure you have a valid passport, driver’s license, and travel insurance.
  4. Pack appropriately: Pack clothing and items suitable for the climate and activities you have planned.
  5. Stay informed: Stay up-to-date on local news and any travel warnings or alerts issued by your government.
  6. Keep copies of important documents: Keep electronic and physical copies of your passport, travel insurance, and other important documents in a safe place.
  7. Learn basic phrases: Learning basic phrases in the local language can be helpful in navigating the destination and communicating with locals.
  8. Respect local customs and laws: Be mindful of cultural differences and obey local laws and regulations.
  9. Stay safe: Familiarize yourself with emergency procedures, including the local emergency number, and take basic safety precautions, such as not carrying large amounts of cash or displaying valuables in public.

Explore various places with PopcornTrip

GoPro Hero 11 कैमरा लॉंच, कितना बेहतर है यह Hero 10 से।

ऐपल आइफ़ोन की तरह गो प्रो भी हर वर्ष Hero कैमरा के नए अवतार निकलता है। और कैमरा पसंद करने वाले इसका इंतज़ार करते है।  इसी क्रम में 15 सितम्बर 2022 को GoPro Hero 11 लॉंच हो गया है। और भारत में भी यह बिक्री के लिए उपलब्ध है। इसका मूल्य लिंक में देख सकते है।

Buy Now from Amazon : GoPro Hero 11 

Buy Now from Amazon : GoPro Hero 10

अगर आप भी ट्रैवल करना पसंद करते है और साथ में video भी बनाते हैं, तो GoPro 11, निश्चित ही एक हल्का, छोटा और फ़ीचर से भरा कैमरा है, जो video बनाने के कई उद्देश्य पूर्ण करता है। आइए देखें कुछ मुख्य अंतर गो प्रो 10 और 11 के।

मूल्य का अंतर देखें तो गो प्रो 10 और 11 के मूल्य में Amazon इंडिया पोर्टल में लगभग रु 5000/- का अंतर है। GoPro द्वारा Hero 11, Hero 10 की तुलना में कई छोटे छोटे नए फ़ीचर जोड़े गए है।

सबसे बड़ा अंतर है – सेंसर साइज़ का, GoPro Hero 11 में GoPro Hero 10 से बड़ा सेन्सर साइज़ है, जिससे फ़ील्ड ओफ़ व्यू 16% बड़ा हुआ मिलता है। जिससे ज़्यादा अच्छे रेज़लूशन में। स्टिल फ़ोटो लेने के लिए ज़्यादा मेगपिक्सल मिल गए है, जहां गो प्रो हीरो 10 से 23 MP तस्वीरें ली जा सकती थी, वहीं गो प्रो हीरो 11 से 27.13 MP फ़ोटो ले सकते है। video के लिए अभी भी 5.3K रेज़लूशन है, लेकिन बड़े सेन्सर साइज़ के कारण ज़्यादा अच्छी क्वालिटी मिलती है।

Hero GoPro 11 Vs 10

हाइपर व्यू बढ़ गया है। गो प्रो 10 men 16:09 के अनुपात में रिकॉर्डिंग करते थे, अब 8:7 के रेशीयो में भी कर सकते है।

हाइपर स्मूथ, गो प्रो 10 Hyper smooth 5.0 के साथ आता है, इसके पूर्व वर्ती वर्ज़न में हाइपर स्मूथ 4.0 था, जिससे रिकॉर्डिंग अधिक स्मूथ और स्थिर हो जाती है। जो चलते/ दौड़ते/ ऐक्शन में अत्यंत उपयोगी है।

GoPro 11 में Horizon लॉक का भी विकल्प है, जो इस कैमरा को और प्रभावशाली बनाता है। जिससे 360 डिग्री घुमाने के बाद भी footage सीधी रहती है।

Gorpo 11 में अपने पिछले वर्ज़न की तुलना में तीन नए Timelaps प्रीसेट जुड़ गए है, जो है, लाइट पेंटिंग, (चलती रोशनी में ब्रश स्टोक का प्रभाव पैदा करता है)। अगला इफ़ेक्ट व्हीकल लाइट ट्रेल्स टाइम लैप्स है जो आगे चलती गाड़ियों की लाइट्स की रोशनी पकड़ने के लिए है। तीसरा टाइम लैप्स प्रीसेट है – स्टार ट्रेल्स, जो रात के आकाश में तारों की रोशनी कैप्चर करने के लिए बना है।

अच्छी बैटरी लाइफ़, GoPro Hero 11, GoPro Hero 10 की तुलना में 38% अधिक रिकॉर्डिंग टाइम बड़ा देता है। हालाँकि बैटरी साइज़ अभी भी Hero 10 के बराबर है 1750 MAH।

GoPro में नए और अनुभवी यूज़र के अनुसार दो नए मोड है। Easy और Pro मोड। जिससे यूज़र अपनी सुविधानुसार गो प्रो को आसानी से चला सकें।

क्या गो प्रो हीरो 10 से 11 में upgrade करना चाहिए? यह सवाल इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितना ट्रैवल करते है और video आपके लिए महत्वपूर्ण है। GoPro के नए कैमरा में कोई बड़े परिवर्तन देखने नहीं मिलते लेकिन कई छोटे – छोटे सुधार किए गए है। अगर कभी कभी हाई video बनाते है, और GoPro 10 की पर्फ़ॉर्मन्स से संतुष्ट है –  तो अभी Hero 10 से upgrade करने आवश्यकता नहीं। लेकिन हमेशा अपने को update रखते हो या लम्बे समय से इस वर्ज़न का इंतज़ार कर रहे तो, नया वर्ज़न आपके लिए आ ही चुका है। देर किस बात की। नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें और ऑर्डर करें।

Buy Now from Amazon : GoPro Hero 11

Buy Now from Amazon : GoPro Hero 10

पिथौरागढ़ घूमें!

पिथौरागढ़ उत्तराखण्ड का एक ऐसा जनपद हैं  – जहां वह सब है, जिनका होना किसी स्वर्ग जैसे स्थान की कल्पना करने के लिए आवश्यक है। हिमालय के ऊंचे शिखर, glaciers से निकलती नदियां, हरियाली का मनमोहक रूप, खुले मैदान, योग, ध्यान, चिंतन के लिए उपयुक्त स्थान, और यहाँ के लोगों का शांत जीवन। यह सब अपने मूल रूप मे रहे – इसके लिए प्रकृति ने पिथौरागढ़ को ऐसे बनाया है कि, जो प्रकृति से विशेष अनुराग रखते हो, वही यहाँ तक पँहुच सकें। एक ओर हिमालय के ऊंचे शिखर, पड़ोसी देश तिब्बत जो वर्तमान मे पड़ोसी देश चीन का अधिकार क्षेत्र मे है – के साथ पिथौरागढ़ की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं को कठोरता से निर्धारित करती है। वहीं हमारे पड़ोसी देश नेपाल और भारतीय सीमा के बीच मे बहती काली नदी और इसके ऊपर बने सेतु – भारत – नेपाल आवागमन को सरल बना दोनों पड़ोसी राष्ट्रों को करीब लाती है। 

पाताल भुवनेश्वर, हाट कालिका गंगोलिहाट, चौकोडी, डीडीहाट, थल, बेरीनाग, मुनस्यारी, जौलजीबी, धारचुला, तवाघाट , झुलाघाट  जैसे अनेकों सुंदर स्थान पिथौरागढ़ जिले में ही हैं। प्रसिद्ध मिलम ग्लेशियर, रालम ग्लेशियर, नंदा देवी बैसकैम्प, लिपुलेख, पंचाचूली सहित अनेकों साहसिक ट्रेक पिथौरागढ़ जिले से ही किए जाते है। 

विश्व प्रसिद्ध और हिंदुओं के पवित्र तीर्थ – कैलाश मानसरोवर झील के ट्रेक के लिए पिथौरागढ़ जनपद के विभिन्न स्थलों से हो तिब्बत के लिए मार्ग है। काली नदी, धौली गंगा नदी, राम गंगा जैसी प्रसिद्ध नदियां पिथौरागढ़ जिले से ही होकर बहती हैं।

देखें वीडियो:

Accommodation (Private)

Hotel Sangam Dharchula Road, Siltham, Pithoragarh, +91 94121 65425, www.hotelsangampithoragarh.com/

Hotel Meghna Simalgair Bazaar, Pithoragarh +91 84396 03909

Yash Yatharth Hotel, Naya Bazar, Pithoragarh

Hotel Manar Link Road, Pithoragarh

Satkar Hotel and Restaurant, Kailashpuri, Bhatkot, +91-95682 25727

Hotel Jyonar Palace, Nagar Palika Chowk, Simalgair Bazar Road, 05964 223 118

Hotel Mall Palace, Roadways Tiraha, Pithoragarh, + 91 98979 65025

Gunjyal Madhur Residency, Chandak, Pithoragarh

आपका होटेल/ रिज़ॉर्ट/ गेस्ट हाउस/ होम स्टे पिथौरागढ़ में है और इस पेज में लिस्ट करना चाहते हैं अथवा अपनी लिस्टिंग अपडेट करना चाहते हों, तो इस पोस्ट में कॉमेंट करें अथवा हमें ईमेल करें।

पिथौरागढ़ पर्यटक आवास (अतिथि गृह) https://kmvn.in/

  1. केएमवीएन टीआरएच पिथौरागढ़
  2. केएमवीएन टीआरसी डीडीहाट
  3. केएमवीएन टीआरसी चौकोरी
  4. केएमवीएन टीआरसी विर्थी
  5. केएमवीएन टीआरसी पटल भुवनेश्वर
  6. केएमवीएन टीआरसी गंगोलीहाट
  7. केएमवीएन टीआरसी मुनस्यारी
  8. केएमवीएन टीआरसी धारचूला
  9. केएमवीएन टीआरसी नारायण आश्रम
  10. पीडब्ल्यूडी निरीक्षण गृह पिथौरागढ़
  11. पीडब्ल्यूडी निरीक्षण गृह डीडीहाट
  12. पीडब्ल्यूडी निरीक्षण गृह बेरीनाग
  13. पीडब्ल्यूडी निरीक्षण गृह गंगोलीहाट
  14. पीडब्ल्यूडी निरीक्षण गृह धारचूला
  15. पीडब्ल्यूडी निरीक्षण गृहमुनस्यारी
  16. वन विश्राम गृह पिथौरागढ़

शिमला से चंडीगढ़ टैक्सी रु 1200/ में

अपनी पिछली यात्रा में शिमला से चंडीगढ़ लौटने के लिए बस अथवा टैक्सी से लौटने का ऑप्शन था। कुछ वजहों से हमारे पास सामान अधिक था, तो बस से यात्रा करना असुविधाजनक था, इसलिए टैक्सी हायर की। इस 110 किलोमीटर की दूरी के लिए टैक्सी रु 2500 से रु0 4000 में मिल रही थी।

तब हमने सर्च किया bla bla वेबसाईट/ एप में, जिस समय हमें लौटना था उसके आस-पास हमें, एक कार मिल रही थी। जिसमे प्रति सीट का किराया रु0 300/ दिख रहा था, हमने सभी चार सीटस बुक कर ली, जिससे यात्रा सुविधाजनक हो पाए।

जिनको जानकारी नहीं है इस वेबसाईट की – उनके लिए – bla bla एक कार pooling एप/ वेबसाईट है, इसमे कोई individual या टैक्सी चालक कहीं जा रहे हो, तो अपनी यात्रा की लागत कम करने के लिए, एप मे अपनी जर्नी लिस्ट कर देते है। और उसी दिशा मे किसी और को भी जाना हो तो कार ड्राइवर के द्वारा लिस्ट किया हुआ मूल्य अप्रूव कर बुक करवा सकते हैं, (ध्यान रखें advance मे कुछ भी पेमेंट न दें, अपनी यात्रा पूरी होने के बाद ही भुगतान करें)

कार/ टैक्सी किसी अन्य सवारी के साथ शेयर न करना चाहे तो – उपलब्धता के अनुसार सभी seats बुक कर आराम से अपनी मंजिल पर पँहुच सकते है। जो कि सामान्य टैक्सी बुक कराने की तुलना मे बहुत कम होता है।

सब चीज परफेक्ट और फूलप्रूफ तो होती नहीं, bla bla मे लिस्टेड कार हमेशा आपको तय कार्यक्रम के अनुसार उपलब्ध हो जाएगी, ऐसा भी नहीं है।

हम इस एप के माध्यम से बुकिंग कराने के बाद बताए गए पिक अप पॉइंट पर पँहुचे, और कुछ देर बाद सफेद रंग की स्विफ्ट Dzire कार पहुची, जो एक टैक्सी थी, किसी सवारी को लेकर चंडीगढ़ से शिमला ड्रॉप करने आई थी, और अब उसे वापस लौटना था, चुकि – टैक्सी ड्राइवर दोनों ओर का किराया, बुकिंग कराने वाले से पहले ही वसूल लेते है, तो उसके लिए वापसी मे लौटते हुए कम कीमत मे सवारी बैठा कर अतिरिक्त लाभ कमाने का मौका होता है।

टैक्सी के अलावा कई निजी वाहन स्वामी भी इस एप मे अपने वाहन के route को डेट और टाइम के साथ लिस्ट कर लेते है, जिससे उन्हे यात्रा मे हमसफर भी मिल जाते है, और यात्रा का व्यय भी कम हो जाता है।

हम टैक्सी मे बैठे कुछ ही मिनट हुए थे, तभी ड्राइवर का मोबाइल बजा – बातचीत से मालूम हुआ कि किसी और ने भी हमारी तरह इस एप के माध्यम से इसी टैक्सी मे अपनी बुकिंग कराई थी, ड्राइवर ने काल पर बहाना बनाते हुए दूसरे यात्री को कहाँ कि “वह रास्ते मे कहीं जाम पर फंसा है और समय पर नहीं पहुच पाएगा” हमें बुकिंग कराने वाले दूसरे यात्री के लिए बुरा लगा कि – उसे टैक्सी नहीं मिल पायी।

लेकिन ड्राइवर को इस सब से कोई सरोकार नहीं था, उसने अपनी ओर से सफाई देते बताया कि कई बार लोग बुकिंग कराने के बाद तय जगह पर तय समय पर नहीं पहुचते, तो वह दो मोबाईल से लिस्टिंग कर, दो अलग -2 बुकिंग ले लेता है। और जो पहले मिल जाए या जिससे अच्छी डील मिल जाए उसे अपने साथ ले जाता है, और और दूसरी बुकिंग को ऐसे ही छोड़ देता है।

इस तरह आप जब भी इस एप के माध्यम से बुकिंग कराएं, ड्राइवर से तय करवा लें कि वो लेने ही आएगा। और अगर फिर भी अंतिम समय मे न आए तो, किसी अन्य माध्यम से भी यात्रा के लिए भी तैयार रहें। #popcorntrip

चम्पावत, उत्तराखंड यात्रा गाइड

देखें वीडियो

https://youtu.be/gJyBia5UiTQ

उत्तराखंड के  विविधता पूर्ण अप्रतिम प्राकृतिक सुंदरता और अतुलनीय हिमालय दृश्यावली प्रदान करती भूमि चंपावत। चन्द वंश के शासकों की राजधानी रही है चंपावत। वर्षो और युगों की छाप/ पहचान देखनी हो/ (महसूस करनी हो) तो इतिहास और विरासत की परतें समेटे चंपावत। वन्यजीवों से लेकर खुबसूरत ग्रामीण क्षेत्रों, ऊंचे नीचे पहाड़ों से लेकर हरे-भरे मैदानों तक, वॉटर स्पोर्ट्स, 

पेराग्ग्लाइडिंग एवं ट्रैकिंग की सुविधा के साथ ऐतिहासिक, धार्मिक, पौराणिक चिन्ह सभी कुछ यहां पर है। 

उत्तराखण्ड में अगर संस्कृति और सभ्यता के प्राचीनतम स्थान की बात करें तो जो उनमे चम्पावत का प्रमुख है। यहाँ के ऐतिहासिक स्तंभ, स्मारक, पांडुलिपियां, पुरातत्व संग्रह और लोककथाएं इसके ऐतिहासिक महत्व का प्रमाण हैं। कत्युर  साम्राज्य ने अतीत में इस क्षेत्र पर शासन किया था। उसके पश्चात् चंद वंश की राजधानी रहा यह स्थान,उन्होंने अपनी प्राचीन राजधानी में कई मंदिरों और प्राचीन स्मारकों का निर्माण किया है। वर्तमान में ये स्मारक पर्यटक के लिए अब आकर्षण है। बालेश्वर मंदिर, देवीधुरा, पंचेश्वर, पवनगिरी मंदिर कुछ ऐसे वास्तुशिल्प भवन हैं जो चंद वंश द्वारा निर्मित है।

चम्पावत नगर के मुख्य आकर्षण है – बालेश्वर मंदिर,  गोलज्यु देवता मंदिर, नागनाथ मंदिर, घटोत्कच मंदिर, क्रांतेश्वर मंदिर आदि. 

और जनपद के कुछ प्रमुख आकर्षण हैंलोहाघाट, माँ बारही मंदिर – देवीधुरा, पूर्णगिरी मंदिर, गुरुद्वारा श्री साहिब, पञ्चेश्वर, नन्धौर सेंचुरी, गुरु गोरखनाथ मंदिर, बाणासुर किला, मायावती आश्रम, अबोट mount, श्यामलाताल  आदि। 

श्यामलाल, माँ बारही मंदिर देवीधुरा, पूर्णागिरी मंदिर एवं गुरुद्वारा श्री रीठा साहिब पर पूर्व में इस चैनल में वीडियो बना चुके है।

चम्पावत के होटल्स/ रिसॉर्ट्स

चम्पावत नगर में कई बजट होटल उपलब्ध है, जिनकी जानकारी हमारे पास हैं उनमे से कुछ ये हैं (अगर आप किसी होटल/ गेस्ट हाउस की जानकारी जोड़ना चाहते है, या बदलना चाहते है तो हमें ईमेल mail@popcorntrip अथवा व्हाट्सएप करें)

Hotel N Green City Near Khatkana Bridge, Champawat, [email protected] +91 9412097010, +91 95577 62109

Hotel Mount View, Near Bus Station, Chamapawat, [email protected] +91 9927167905

Hotel Rajatdeep Main Bus Stand, Champawat, [email protected] +91 9897370393

Hotel Shiva Residency GIC Chowk, Champawat, [email protected] +91 9412044242

Yamandeep Guest House Talli Madli, Champawat [email protected] +91 9897600008

Hotel Sea Hawk, Champawat

Valley View Bamanjol, Sukhi Dhang, Shyamlatal Road, Champawat, [email protected] +91 9651649669

Shiva Hotel and Restaurant Koli Dhek, Lohaghat, Champawat [email protected] +91 7351636530

Prakash Hotel Kakrali Gate, Tanakpur Dist Champawat, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9759976023

Om Hotel Chauki, Manch Tamli Road Champawat, Champawat [email protected] +91 7251034124

Nath Guest House JYAL FARM PITHORAGARH ROAD TANAKPUR, champawat [email protected] +91 8791329124

All Weather Hotel and restaurant Vill- Khola sunar PO-Barakote, Lohaghat, Champawat, [email protected] +91 7078244977

Barahi Guest House Tanakpur road, Champawat, [email protected] +91 9456704485

Golju Regency, Goral Chour road, Champawat [email protected] +91 8979599191

Harsh Hotel, Pati, Champawat [email protected] +91 9917152430

Hotel Akashdeep Pithoragarh Road Chhatar, Champawat [email protected] +91 9997181836

Hotel Baleshwar Resort Baleshwar Marg, Champawat, [email protected] +91 9412037273

Hotel Blu Empire 039, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9760129367

Hotel Cedar Plaza PANCHESWAR ROAD LOHAGHAT, CHAMPAWAT [email protected] +91 9927594666 www.hotelcedarplaza.com

Hotel Gopala Vill – Kalukhan, P.O.- Gouthgarsari, Champawat [email protected] +91 8954508632

Hotel Ganpati Palace, Near Grif Camp, Champawat, [email protected] +91 9917341693

Hotel Harsh, Main Market, Champawat, Champawat [email protected] +91 9557387696

Hotel Mangal Deep, Punati Chatar Champawat, [email protected] +91 9456102639

Hotel Lakshya Pithoragarh Road, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 7500253900

Hotel Laksh Villa Resort Near Bush Station, Champawat, [email protected] +91 8449348456

Hotel Mount View Near Bus Station, Chamapawat, [email protected] +91 9927167905

Hotel Ranjeet Palace Pithoragarh Road, Lohaghat, Champawat [email protected] +91 7579234567

Hotel Reyansh Mohanpur, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9456344433

Hotel Shikhar Bus Station Road, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9897621470

Hotel Sangam, Sant Baazar, Champawat, [email protected] +91 7500070770

Hotel Shivansh 32, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9837447645

Hotel Shumangalam 0014, Banbasa, Champawat [email protected] +91 9897008255

Hotel Tej Maan Near Khatkana Pul, Champawat, [email protected] +91 9897558613

Hotel Taj 242, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9412166000

Hotel Tiwari Near Bus Station, Champawat, [email protected] +91 8859378429

Hotel Upreti, Main Bus Stand, Champawat, [email protected] +91 7579102768

Jai Maa Ladidhura Hotel Vill: Mall Khola, Post: Barakhot, Champawat [email protected] +91 9690698405

JaiShree Khatima Road, Tanakpur, Champawat [email protected] +91 9758436260

Manas Farms Chandrika Homestay, Village: Forti, Lohaghat, Distt. Champawat Uttarakhand +91 94565 10527

देखें वीडियो

https://youtu.be/gJyBia5UiTQ


Please Subscribe our You Tube channel