बाइक से आयें या कार से,  पहाड़ी रोड पर घुमावदार मोड़ों से सफर करते हुए अक्सर लोग परेशान हो जाते हैं – तब यह 10 टिप्स यकीनन आपके ट्रैवल अनुभव को बदल देंगी, और आप पर्वतीय क्षेत्रों बार बार आना चाहेंगे।

पहाड़ी रास्तों में चलते हुए वाहन में, कोई पुस्तक पढ़ने, मोबाइल अथवा लैपटॉप के स्क्रीन में देखने से बचें, क्योंकि मोशन के विपरीत किसी भी चीज पर ध्यान देने कई सर  दर्द, चक्कर  आने, मितली  आने  जैसी  कई  परेशानियां हो सकती है, जितना संभव हो अपने सामने की ओर देखें, और सामने देखने का मन ना हो तो आंख बंदकर रिलैक्स हो सकते हैं।

कपड़ों का चयन क्रेते हुए ध्यान रखें – सर्दियों में डेनिम की जगह, कॉर्डरॉय क्लोधिंग ठंड रोकने के लिए अधिकार कारगर है, साथ ही मौसम के अनुसार कपड़ों रखें, पहाड़ी डेस्टिनेशन  में जितने हाई एल्टीट्यूड में जाएंगे, ठंड उतनी ही ज्यादा होगी।

पहाड़ों में सफर करते हुए कान ढ़क कर रखें क्योंकि यहां बहती ठंडी हवाओं में नमी भी होती है कान में जाने से परेशानी हो सकती है।

पहाड़ी घुमावदर रोड्स में एक दिन में डेढ़ ज़्यादा से ज़्यादा डेढ़ सौ से  दो सौ किलोमीटर तक ही यात्रा करें, तेज़ी से मौसम बदलने से परेशानी हो सकती है, आसपास के नजारों का आनंद लेते हुए धीरे-धीरे चलें और ठहरते हुए आगे बढ़े।

पहाड़ी सड़कों पर दिन में ही ड्राइव करें, शाम होने से पहले कहीं रुक जाएं रात में होटल मिलने में परेशानी होगी, क्योंकि पहाड़ों में ज्यादातर जगहों पर स्थानीय बाजार शाम को जल्दी बंद हो जाती है। पहाड़ों में आते हुए अपने वाहन में पर्याप्त ईधन रखें, क्योंकि पेट्रोल पंप के मध्य कई जगह बहुत दूरी है।

घर से बाहर भोजन कुछ अलग स्वाद का मिलता है, इसलिए बाहर का फ़ूड लेते हुए, आप सामान्यतः जितना लेते हैं उसका आधा यह दो तिहाई ही लें, जिससे अगर वो अनुकूल न भी हो, तो भी पाचन में अधिक दिक्कत नहीं होगी। सलाद  की मात्रा बढ़ा  लें।

पहाड़ों में घूमते समय ज्यादा ऊर्जा की आवश्यकता होती है, ज्यादा पसीना बहता है, जिससे डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी हो सकती है, इससे बचने के लिए अपने साथ एनर्जी ड्रिंक्स अथवा इलेक्ट्रोल रखें, और नियमित अंतराल पर लेते रहें।

पहाड़ों में गूगल मैप को ऑफलाइन डाउनलोड करके रखें, क्योंकि इंटरनेट कनेक्टिविटी हर जगह नहीं है, किसी दुविधा की स्थिति में स्थानीय लोगों से भी जानकारी ले लें, कई जगह नए रास्ते बन रहे हैं, और कई मार्ग बंद हो चुके है।

मोड़ों पर कभी भी overtake करने की कोशिश ना करें, भले ही कितनी ही जल्दी में आप हो, कभी मोड़ो पर अचानक से कोई अनचाहा ऑब्जेक्ट जैसे कोई वन्य प्राणी या पहाड़ी से गिरकर आया कोई पत्थर/ मलबा हो सकता है, साथ ही पहाड़ी सड़कों पर अपने वाहन को तय गति सीमा में ही रखें, पहाड़ी सड़के तेज रफ्तार वाहनों के लिए नहीं बनी है

अगर यात्रा मैं आपका बजट कम हो या कुछ नया करना चाहते हैं, तो किसी किसी छोटी, कम जानी पहचने स्थान में रात्रि विश्राम कर सकते हैं, हो सकता है –  इन जगहों पर इंटरनेट कनेक्टिविटी अथवा कुछ दूसरी सुविधाएं ना मिले।

उम्मीद है यह कुछ बातें आपके पहाड़ों में सफर के अनुभव को और भी बेहतर बनाए रखने में आपकी सहायता करेंगी शेयर करें आपके मित्रों के साथ जो पहाड़ों की यात्रा में निकलने वाले हैं।

देखें video :