Chmapawat, Uttarakhand

start exploring

उत्तराखंड के  विविधता पूर्ण  प्राकृतिक सौंदर्य और अतुलनीय हिमालय दृश्यावली प्रदान करती भूमि है चंपावत।

उत्तराखंड मे किसी ऐसी जगह आना हो, जो पर्यटकों से भरी हुई न हो
और जहां आपके और प्रकृति के मध्य कोई हो तो वह है असीम शांति।

स्वामी विवेकानंद को उत्तराखंड मे स्विट्ज़रलैंड से सुंदर प्राकृतिक सौंदर्य कहीं लगा था तो वह है चंपावत।
यहाँ स्वामी जी एक अद्वैत आश्रम भी है।
मायावती।

चम्पावत नगर के मुख्य आकर्षण है – बालेश्वर मंदिर,  गोलज्यु देवता मंदिर, नागनाथ मंदिर, घटोत्कच मंदिर, क्रांतेश्वर मंदिर आदि. 

जनपद के कुछ प्रमुख आकर्षण हैं - लोहाघाट, देवीधुरा, पूर्णगिरी, गुरुद्वारा श्री रीठा साहिब, पञ्चेश्वर, नन्धौर सेंचुरी, गुरु गोरखनाथ मंदिर, बाणासुर किला, मायावती आश्रम, अबोट माउंट , श्यामलाताल  आदि।

चंपावत जिले मे बहुत होटेल्स नहीं है और जो हैं उमने से ज़्यादातर बजट और कुछ डीलक्स कैटेगरी होटेल्स है, जिनकी से कुछ की जानकारी इस स्लाइड के अंत मे  दिये लिंक से प्राप्त की जा सकती है।

नजदीकी रेलवे स्टेशन चंपावत से  73 किमी और नजदीकी एयर पोर्ट पंतनगर 167 किमी की दूरी पर है।

चंद वंश की राजधानी रहा चंपावत प्रकृति प्रेमियों और खेल प्रेमियों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं।

चंपावत वर्ष में कभी भी आया जा सकता है। सर्दियों मे गरम कपड़े अवश्य रखें, कई जगह बर्फबारी भी होती है।

चंपावत के बारें मे अधिक जानने के लिए क्लिक करें।

और देखें।
G-F4YYFZB6MH