Pawalgarh

Pawalgarh

Preface
Where
How to reach
Where to stay (ABOUT property) room categories, activities, facilities, etc
What to see/ What to do/ Activities / Nearby attractions
When to go
Conclusion

Preface
अगर आपको तलाश है एक ऐसे डेस्टिनेशन की जहाँ आप अपनी छुट्टियों को fully enjoy कर सकें। जहाँ आप प्रकर्ति की खूबसूरती को महसूस कर सकें, जहाँ आप bird wathcing, elephant safari से लेकर जंगल सफारी जैसे adventure activities का लुत्फ़ उठा सकते हैं। और आप इस बिजी लाइफ schedule से दूर होकर mind, body और soul को relax कर सकें। तो चलिए आपक्को रूबरू कराते हैं एक ऐसे ही स्थान पवलगढ़ से – जो स्थित है रामनगर और कालाढूंगी के बीच बेलपड़ाव के नजदीक।

Where – पवलगढ़ स्थित है उत्तराखंड के नैनीताल जिले में नैनीताल से 64 km की दुरी पर। ये स्थान परिवार और मित्रों , health and wellness, wildlife, adventure, eco tourism आदि के लिए एक परफेक्ट destination है। जहाँ आप रोजमर्रा की भागदौड़, शहरी आपाधापी से दूर प्रकर्ति की बीचो बीच शांत और स्वच्छ वातावरण में अपने समय व्यतीत कर सकते हैं।

How to Reach:
देश के किसी भी भाग से आप रामनगर रेलवे स्टेशन या काठगोदाम रेलवे स्टेशन तक train द्वारा और इसके बाद taxi बुक कर बैलपड़ाव होते हुए यहाँ पहुंच सकते हैं।
दिल्ली से गाजियाबाद, मुरादाबाद, काशीपुर, रामनगर, बैलपड़ाव होते हुए करीब 338 km की दुरी तय कर पवलगढ़ पंहुचा जा सकता है।
इसी तरह देहरादून से हरिद्वार, बिजनौर, काशीपुर, रामनगर होते हुए 238 km सफर तय कर पवलगढ़ पंहुचा जा सकता है।
बेलपड़ाव से पवलगढ़ की दुरी लगभग 7 किलोमीटर है.. नजदीकी रेलवे स्टेशन रामनगर से 27 km। और इसके अलावा एक और railway station हल्द्वानी से 50 Km है, जहाँ से टैक्सी hire कर के आसानी से पवलगढ़ पहुंच सकते हैं।
कहाँ रुके/ where to Stay:
पवलगढ़ जैसी लोकेशन में यहाँ का nautre और शांति देख, आप अपने को यहाँ stay करने से रोक नहीं पाएंगे। (तो जानते हैं आप पवलगढ़ आ कर कहाँ पर स्टे कर सकते हैं, जानने के लिए देखें साथ दिए वीडियो को )
यहाँ आपको सुबह से शाम तक विभिन्न बर्ड्स और animals की आवाजें सुनाइ देती है।
What to do:
पवलगढ़ में आप कई सारी adventure activities को enjoy कर सकते हैं जैसे jungle safari, nature walk, birds and butterfly watching, star gazing… Sitabani safari, river crossing, village walk, rappelling, zipline, body surfing, paragliding, jungle trek, bonfire, sunrise view, Kumauni cuisine, और कई indoor aur और outdoor games ke के विकल्प आप को मिल जायेंगे।
योग, ध्यान करने के लिए भी एक ideal लोकेशन है।
(ees camp site ke adhik jaankari ke liye aap neeche discription mei de e gayi website per click kar jaan sakte hain….)
What to see
पवलगढ़ प्रसिद्द है यहाँ पाए जाने वाली बर्ड्स की 300 से ज्यादा प्रजातियों (species) के लिए। इसके अलावा यहाँ आपको पेड़ पौधों की लगभग १५० किस्मे, विभिन्न प्रकार की तितलियाँ, shurbs, herbs, और विभिन्न प्रकार के mammals पायें जाते है। इसी इलाके से भारत और नेपाल के बीच हाथियों का आवागमन होता था, ये शिवालिक elephant coridor भी है।
समीपवर्ती आकर्सण/ Nearby attraction:
पवलगढ़ के पास स्थित कुछ पर्यटक आकर्सण के केंद्र हैं – कॉर्बेट म्यूजियम – ( 27 km), Corbett Fall (26 Km), Garjia Temple( 35Km), हनुमान धाम छोई (16 Km) सीताबनी मंदिर और आश्रम (12 Km)।
पवलगढ़ के पास सीताबनी मंदिर जिसे वाल्मीकि आश्रम भी कहा जाता है स्थित है। इसका वर्णन रामायण में भी किया गया है, और मान्यता है कि सीता माता ने लव – कुश को इसी आश्रम जन्म दिया था।
लेकिन कुछ अन्य किवदंतियों के अनुसार, देवी सीता, इसी स्थान पर भूमि में समाविष्ट हो गई थी। प्रतिवर्ष रामनवमी के अवसर पर यहाँ मेले का आयोजन किया जाता है।
एक फारेस्ट रेस्ट हॉउस (FRH ) भी यहाँ मौजूद है, जिसका निर्माण ब्रिटिश काल में सन 1912 में कराया गया था।
When to go

वैसे तो आप पवलगढ़ साल में कभी भी आ सकते हैं, क्यूंकि हर मौसम में प्रकर्ति की अपनी अलग खूबसूरती और विशेषता होती है।
लेकिन अगर आप bird watching में रूचि रखते हैं तो September से March और तितलियों (butterfly watching) के लिए April से June और September से November तक का समय सबसे उचित रहता है। इसके अलावा शांति और प्रकर्ति की हर मौसम में आपको अलग विशेषता यहाँ आपको वर्ष भर दिखेगी।
Conclusion
तो ये था रामनगर, कॉर्बेट के समीप पवलगढ़ से जुडी जानकारी देता लेख, जहाँ आप अपने दोस्तों, परिवार के साथ समय बिता अपने holidays को यादगार बना सकते हैं।
—-
और भी टूर और ट्रेवल से जुड़े वीडियोस देखने के लिए popornTrip चैनल को सब्सक्राइब करने के साथ साथ bell आइकॉन में क्लिक भी करें।

By |2018-09-04T17:37:45+00:00September 4th, 2018|Categories: Places|0 Comments

About the Author:

Leave A Comment

Send query

Send query